डायल 112 का इमरजेंसी के वक्त कैसे करें इस्तेमाल

वूमेन सेफ्टी

0
524

वूमेन सेफ्टी और अवेयरनेस को लेकर नोएडा पुलिस द्वारा लगातार चलाया जा रहा है अभियान |

वूमेन सेफ्टी और अवेयरनेस को लेकर नोएडा पुलिस द्वारा लगातार अभियान चलाया जा रहा है। जिसका नेतृत्व डीसीपी महिला सेल प्रीति यादव द्वारा किया जा रहा है। इसी क्रम में आज वूमेन सेफ्टी अभियान का कार्यक्रम दिल्ली मेट्रोपोलिटियन एजुकेशन सोसायटी सेक्टर 62 नोएडा में किया गया।  कार्यक्रम में स्टूडेंट्स को अवेयर करने के लिए नोएडा के ट्रैफिक सेल,फायर डिपार्टमेंट नोएडा पुलिस और नोएडा डॉग स्क्वायड की टीम मौजूद रही।

पुलिस से डरने की जरूरत नहीं है 

आईपीएस प्रीति यादव, डीसीपी महिला सुरक्षा ने अपने संबोधन में कहा, “पुलिस से डरने की जरूरत नहीं है, हम आपकी मुश्किल घड़ी में मदद करने और आपके साथ रहने के लिए यहां हैं।” उन्होंने  नोएडा पुलिस द्वारा ‘महिला सुरक्षा: मुद्दे और चिंताएं’ विषय पर आयोजित एक सत्र के दौरान दिल्ली मेट्रोपॉलिटन एजुकेशन, सेक्टर-62, नोएडा के छात्रों को संबोधित किया।

IPS PREETI YADAV
डीसीपी ने छात्रों को शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया, अपने संबंधित थाने के पुलिस अधिकारियों से संपर्क करने, व्हाट्सएप/सोशल मीडिया पर धोखाधड़ी वाले कॉल के बारे में जागरूक रहने आदि के बारे में बताया। उन्होंने यह भी बताया कि लड़कियों के लिए सतर्क और जागरूक रहना कितना महत्वपूर्ण है। अधिकार, उन्होंने कहा, “किसी को अपनी संस्था की बात सुननी चाहिए और विषाक्त संबंधों को पहचानना चाहिए, इससे बाहर आना चाहिए और पुलिस से नहीं डरना चाहिए”पुलिस मुश्किल घड़ी में मदद करने और आपके साथ रहने के लिए यहां हैं। । उन्होंने पॉश अधिनियम और इसके महत्व के बारे में भी बताया।

डायल 112 का इमरजेंसी के वक्त कैसे करें इस्तेमाल

डीसीपी वूमेन सेल ने छात्राओं को सेफ्टी के बारे में बताया। कैसे 112 डायल नंबर का इमरजेंसी के वक्त इस्तेमाल किया जाए। किस परिस्थिति में इसका उपयोग किया जाना चाहिए।
1090 डायल नंबर का इस्तेमाल कैसे महिलाओं को और किस परिस्थिति में करना चाहिए।1090 नंबर सिर्फ महिलाओं की मदद।करने के लिए हैं। शिकायतकर्ता की पहचान गुप्त रखी जाती है। आप चाहते है की पुलिस आपके यहां न आए तो आप उन्हे बता सकते हैं तो वो किसी एनजीओ को भी भेज देते हैं।

नोएडा फायर डिपार्टमेंट के इंस्पेक्टर अजय कुमार ने बताया

नोएडा फायर डिपार्टमेंट के इंस्पेक्टर अजय कुमार ने छात्राओ को बताया कि फायर कैसे बनती है और कैसे बुझाई जाती है।अजय कुमार की एक संक्षिप्त बातचीत से हुई, जिन्होंने छात्रों को घर में आग लगने की घटनाओं के मामले में उठाए जाने वाले विभिन्न सुरक्षा उपायों के बारे में जानकारी दी।

घटना के बाद कैसे डॉग स्क्वायड की मदद से अपराधी को पकड़ा जा सकता है

नोएडा डॉग स्क्वायड से सब इंस्पेक्टर कृष्णकांत ने बताया कि घटना के बाद कैसे डॉग स्क्वायड की मदद से अपराधी को पकड़ा जा सकता है। डॉग स्क्वायड की टीम जब तक मौके पर पहुंचे तब तक क्या पीड़ित को क्या सावधानी बरतनी चाहिए।

 

SHO 58 संजय कुमार सिंह एवं यातायात निरीक्षक राकेश कुमार यादव ने

यातायात निरीक्षक राकेश कुमार यादव ने यातायात संकेतों, नियमों और सड़क पर बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने विद्यार्थियों को हेलमेट पहनने, मोबाइल का प्रयोग न करने और वाहन चलाते समय सीट बेल्ट लगाने की भी सलाह दी। SHO नोएडा सेक्टर 58 संजय कुमार सिंह ने बताया कि महिलाओं को बेहिचक अपने साथ हो रहे अन्याय के लिए पुलिस को मदद लेनी चाहिए। नोएडा पुलिस सदैव उनकी सेवा में तत्पर है।

मीडिया स्कूल की प्रमुख डॉ. सुस्मिता बाला ने मेहमानों का स्वागत किया

मीडिया स्कूल की प्रमुख डॉ. सुस्मिता बाला ने मेहमानों का स्वागत किया और महिला सुरक्षा के बारे में जागरूकता पैदा करने की दिशा में डीसीपी द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि ऐसे सत्रों से छात्रों को लाभ होगा। आंतरिक शिकायत समिति ने नोएडा पुलिस के सहयोग से दिल्ली महानगर शिक्षा के महिला सशक्तिकरण सेल और कानूनी सहायता सेल सत्र का आयोजन किया।इस अवसर पर सब इंस्पेक्टर जयदीप मलिक, प्रोफेसर रविकांत स्वामी, निदेशक, DME, डॉ. पूर्वा रंजन, प्रमुख, प्रबंधन स्कूल भी उपस्थित थे।

वूमेन सेफ्टी और अवेयरनेस को लेकर नोएडा पुलिस
वूमेन सेफ्टी और अवेयरनेस को लेकर नोएडा पुलिस

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here